दिल्ली का वो बाजार जहां अमीर घर की औरतें खुलेआम खरीदती हैं लड़कों का जिस्म।. . .

दुनिया में ए दिन कुछ ऐसी खबरे सुनने को मिल जाती हैं जिसे सुनने के बाद हर कोई दंग हो जाता हैं ।कुछ ऐसी ही बात आज हम आप को बताने वाले हैं जिसके बारे में जानकार आप हैरान हो जायेंगे ।आप सभी ने ज्यादातर वेश्यावृत्ति और रेड लाइट एरिया के बारे में सुना होगा, जहां औरतों के शरीर की बोली लगती है, यहां बोली लगाने वाले होते हैं मर्द। लेकिन अब कुछ उल्टा ही हो रहा हैं भारत में एक में एक ऐसी जगह पुरुषो की बोली लगाई जाती हैं और और बोली लगाने वाली होती ही महिलाये ।वैसे आप की जानकारी के लिए बता दे की इस काम की शुरुवात विदेश से हुई थी लेकिन अब ये भारत में भी होने लग गया हैं ।तो आइये आज आप को बताते हैं की भारत में कोनसी जगह हैं जहा ये सब हो रहा हैं और किस तरह से यहाँ मर्दो की बोली लगाई जाती हैं ।

इस जगह लगती हैं मर्दो की बोली

बता दे की ये मामला राजधानी दिल्ली से सामने आया हैं ।दिल्ली के कई पॉश इलाकों में मर्दों की ऐसी मंडियां सजती हैं, जहां लड़कों की बोली लगाई जाती है. इन मंडियों को जिगोलो मार्केट के नाम से जाना जाता है और पैसों के लिए अपना जिस्म बेचने वाले इन मर्दों को ‘जिगोलो’ यानी मेल एस्कॉट या फिर कॉल ब्‍वॉयज कहा जाता है.

10 बजे से 4 बजे तक चलता हैं ये कारोबार

यह कारोबार रात में 10 बजे के बाद शुरू होता है और सुबह 4 बजे तक चलता है। दिल्ली के सरोजनी नगर, लाजपत नगर, पालिका मार्केट और कमला नगर मार्केट समेत कई इलाकों में रात होते ही मर्दों की जिस्मफरोशी के धंधे की मार्केट सज जाती है। दिल्ली के इस मार्केट में एलीट क्लास से संबंध रखने वाली महिलाएं आकर मर्दों की बोली लगाती है।

18000 से लेकर 15000 तक की लगती हैं कीमत

आप की जानकरी के लिए बता दे की इस दौरान मर्दो के जिस्म के अलग अलग रेट लगाई जाती हैं ।यहाँ पर मर्दो की कीमत 1800 से 3000 रुपए हैं और अगर किसी को जिगोलो फुल नाइट के लिए चाइये होता हैं तो उसकी कीमत 15000 तक होती हैं ।

20 प्रतिसत हिस्सा देने पड़ता हैंस संस्था को

ये पुरे तरीके से हुआ करता हैं और ये काम करने वाले हर मर्द को अपनी कमी का 20 परसेंट हिस्सा उस संस्था को देना पड़ता हैं जिससे वह जुड़ा हुआ हैं ।ये धंधा में वेश्यावृत्ति की कहनियो से ही जुड़ा हैं यहाँ पर कुछ पुरुषो ने इसे अपना प्रोफेशन बनाया हुआ हैं तो कुछ जबरदस्ती ये काम करने को मजबूर हैं ।

इस तरह से होता हैं सौदा तय

बता दे की जिगोलो दिल्ली के पॉश इलाकों में खड़े रहते हैं जैसे की साऊथ एक्सटेंसन, जेएनयू रोड, आईएनए, अंसल प्लाजा, कनॉट प्लेस, जनकपुरी डिस्ट्रिक सेंटर जैसे बड़े बड़े इलाको में खड़े रहते हैं और इस दौरान वह गले में पत्ता और हाथ में रुमाल रखा करते हैं ये ही उनकी पहचान हैं ।महिला कार में बैठकर इनके पास आती हैं और वह अंदर बैठ कर सौदा तय करते हैं और कर में ही बैठ कर उनके साथ चले जाते हैं ।जिगोलो की डिमांड उसके गले में बंधे पट्टे पर निर्भर करती है।

बहुत ही तेजी से फेल रहा हैं ये कारोबार

आप की जानकरी के लिए बता दे की ये काम दिल्ली में अभूत ही ज्यादा तेजी से फेल रहा हैं ।मर्दो की ये मंडी साऊथ एक्सटेंसन, जेएनयू रोड, आईएनए, अंसल प्लाजा, कनॉट प्लेस, जनकपुरी डिस्ट्रिक सेंटर जैसे बड़े बड़े इलाको में लगती हैं

किसी ने बनया प्रोफेसन तो मज़बूरी में कर रहे ये काम

कुछ लोगो को ये काम अच्छा लगता हैं तो उन्होंने इसे अपना प्रॉफ़ेसन बना लिया हैं वही दूसरी तरफ कुछ ऐसे लोग भ हैं जो पैसा कमाने की लालच में से सब कर रहे हैं ।

loading...

You May Also Like

Like Us on Facebook

loading...

Facebook Comments

loading...